बिजली का मौज़ूदा संकट प्रदेश के गर्त में जाने का इशारा कर रहा, पॉवर वितरण कंपनी ज़मीनी सच्चाई से मुँह चुरा रही : भाजपा

भाजपा प्रदेश अध्य्क्ष ने बढ़ते बिजली संकट व कटौती के चलते किसानों और घरेलू उपभोक्ताओं की परेशानी को लेकर प्रदेश सरकार की नीतिगत विफलता पर जमकर निशाना साधा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्य्क्ष श्री विष्णु देव साय ने प्रदेश में बढ़ती बिजली की मांग के दृष्टिगत गाँवों में लगातार हो रही बिजली कटौती के चलते किसानों और घरेलू उपभोक्ताओं की परेशानी को लेकर प्रदेश सरकार की नीतिगत विफलता पर जमकर निशाना साधा है। श्री साय ने कहा कि बिजली का मौज़ूदा संकट प्रदेश के गर्त में जाने का इशारा कर रहा है और पॉवर वितरण कंपनी प्रदेश में बिजली संकट और अघोषित तौर पर हो रही बेज़ा बिजली कटौती को नकारकर ज़मीनी सच्चाई से मुँह चुरा रही है।

श्री साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ पिछले कई वर्षों से ज़ीरो पॉवर कट वाला राज्य रहा है। ऐसे प्रदेश में, जहाँ सरप्लस बिजली हुआ करती थी, वहाँ बिजली को लेकर ऐसी समस्याओं का उत्पन्न होना और बिजली तक के लिए लोगों का आंदोलन के लिए विवश होना प्रदेश सरकार के फेल होने का प्रमाण है। श्री साय ने कहा कि पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के शासनकाल में जो छत्तीसगढ़ पॉवर रेटिंग बी-प्लस और रैंकिंग 20/42 के स्तर के साथ सरप्लस बिजली के लिए जाना जाता था, आज कांग्रेस सरकार के कुप्रबंधन के कारण उस राज्य की पॉवर रेटिंग सी-प्लस और रैंकिंग 30/42 के स्तर पर पहुँच गई है। श्री साय ने कहा कि ये हालात यह साबित करते हैं कि कांग्रेस की मौज़ूदा प्रदेश सरकार छत्तीसगढ़ को बहुत पीछे ले जा रही है और कई वर्षों की मेहनत पर पानी फेर कर छतीसगढ़ को एक पिछड़ा राज्य बनाने की दिशा में काम कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *