सावन के पवित्र माह और रक्षाबंधन के अवसर पर छत्तीसगढ़ से 68 ट्रेनों को रद्द करना दुर्भाग्य जनक

रायपुर:  छत्तीसगढ़ से गुजरकर चलने वाले 68 ट्रेनों को रद्द किए जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार के कोयला प्रेम के चलते ठीक तीज त्यौहार के समय छत्तीसगढ़वासियों को ट्रेन की सुविधा से वंचित होना पड़ता है

बीते 8 माह में लगभग 300 से अधिक ट्रेनों को दीपावली होली सावन का पवित्र माह और रक्षाबंधन के दौरान रद्द कर दिया गया।

मोदी सरकार की नीतियां मुनाफाखोरी की है कोयला ढुलाई से मिलने वाली मोटी भाड़ा के चलते ही यात्री ट्रेनों को बार-बार रद्द किया जा रहा है और छत्तीसगढ़ की जनता को गुमराह करने के लिए रेल मंत्रालय रेल पटरी मरम्मत कार्यों का बहाना बना रही है आजादी के बाद पहली बार इतने लंबे अंतराल के लिए ट्रेनों को बंद किया गया है अब तक 300 से अधिक ट्रेनें रद्द की गई है जबकि रेल डिपार्टमेंट में मेंटेनेंस का कार्य हर घंटा चलता है

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ठीक हिंदुओं के तीज त्यौहार के समय ही ट्रेनों को रद्द कर रही है और छत्तीसगढ़ भाजपा के 9 सांसद और राज्यसभा सदस्य के मुंह में दही जमा है। छत्तीसगढ़ के ट्रेन यात्रियों की समस्याओं से इन्हें कोई लेना-देना नहीं है।

भाजपा के सांसद अपने सरकार के आगे ही छत्तीसगढ़ के ट्रेन यात्रियों की समस्याओं को नहीं रख पा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह और राज्यसभा सदस्य सरोज पांडेय को जनता को बताना चाहिये कि सावन माह और रक्षाबंधन के दौरान जो ट्रेनों को रद्द किया गया है इस पर वो मौन क्यों हैं? क्या  रेणुका सिंह एवं सरोज पांडेय  मोदी शाह को  राखी भेज कर रक्षाबंधन के पावन पर्व पर हमारी बहनों और भाइयों के लिए ट्रेन शुरू करने का आग्रह करेंगी?

Leave a Reply

Your email address will not be published.